May 25, 2024

नितीश सरकार के गले की हड्डी बनी नयी शिक्षक नियमावली, पूरे बिहार में शिक्षकों ने निकाला प्रतिरोध मार्च …

Apar Bharat Live

पटना, 01 मई 2023: आज अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस पर जहाँ सभी लोग छुट्टियां मना रहे थे वहीं बिहार राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर राज्य के सभी शिक्षक समुदायों ने शिक्षक नियमावली 2023 के विरोध में प्रतिरोध मार्च निकाला।

इसी क्रम में माध्यमिक शिक्षक संघ जिला इकाई, आरा (भोजपुर) के जिला अध्यक्ष अवधेश कुमार एवं सचिव संतोष कुमार के नेतृत्व में सभी अनुमंडल एवं प्रखंड अध्यक्ष, सचिव तथा कार्यकारिणी के सभी सदस्य ने आरा शहर में जोरदार आगाज के साथ प्रतिरोध मार्च निकाला जिसमें जिला के सभी शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्ष शामिल हुए।

अनुमंडल उपाध्यक्ष (आरा) उदय शेखर आजाद ने बताया की नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली शिक्षकों के साथ धोखा और शिक्षा के साथ खिलवाड़ है। इसके माध्यम से सरकार ने शिक्षकों को नीचा दिखाने का काम किया है। बिहार सरकार के अनुसार 20 वर्षों से पढ़ा रहे शिक्षक अयोग्य हैं, उनकी योग्यता का आकलन B. P. S. C के माध्यम से होगा, तो क्या मैट्रिक और इंटर का अच्छा रिजल्ट सरकार खुद बना कर दे रही है।

ऐसा ही नजारा और वाक्या राजधानी पटना और बिहार के अन्य जगहों में भी देखने को मिला जहां शिक्षकों ने भारी संख्या में शामिल होकर सरकार की नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली का विरोध किया और प्रतिरोध मार्च निकाला।

इस प्रतिरोध मार्च के माध्यम से शिक्षक समुदाय ने सरकार को चेताया और इस नियमावली को शिक्षा, शिक्षार्थी और शिक्षकों के लिए काला कानून बताया। अब ये देखना अहम होगा की नितीश सरकार अपने इस निर्णय मे संशोधन कर सुधार करती है या बिहार के शिक्षकों का प्रतिरोध यूँ ही जारी रहेगा।

Spread the love